महाकाली मंदिर, लछैर, पिथौरागढ़

यह मंदिर पिथौरागढ़ मुख्यालय से लगभग 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस मंदिर के आसपास की प्राकृतिक सुंदरता एकाएक मन को मोह लेती…

View More महाकाली मंदिर, लछैर, पिथौरागढ़

तंत्रोक्त देवीसूक्तम (अर्थ सहित)

इस मंत्र के जाप से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है. इस मंत्र का यथासम्भव पाठ करना चाहिए।  यह देवी माँ को प्रसन्न करने का…

View More तंत्रोक्त देवीसूक्तम (अर्थ सहित)

श्रीकनकधारा स्तोत्रम || माता लक्ष्मीजी की शक्तिशाली स्तुति (संस्कृत में)

इसके श्रद्धा-विश्वाश पूर्वक पाठ-अनुष्ठान से ऋण मुक्ति और धन प्राप्ति होती है. यह विशेष मंत्र माता लक्ष्मीजी को प्रसन्न करने के पढ़ा जाता है. श्री…

View More श्रीकनकधारा स्तोत्रम || माता लक्ष्मीजी की शक्तिशाली स्तुति (संस्कृत में)

श्रीसूक्तम्

ऋग्वेद के दूसरे अध्याय के छठे सूक्त से अनुष्टुप छंद  में माता लक्ष्मी की अद्भुत स्तुति।   हिरण्यवर्णां हरिणीं सुवर्णरजतस्रजाम् चन्द्रां हिरण्मयीं लक्ष्मीं जातवेदो म…

View More श्रीसूक्तम्