प्रातःस्मरणीय श्लोक

श्री गणेश प्रातः स्मरण स्तोत्र प्रात: स्मरामि गणनाथमनाथबन्धुं  सिन्दूरपूरपरिशोभितगण्डयुग्मम् । उद्दण्डविघ्नपरिखण्डनचण्डदण्ड–  माखण्डलादिसुरनायकवृन्दवन्द्यम् । । अर्थ- अनाथों के बन्धु, सिन्दूर से शोभायमान दोनों गण्डस्थल वाले, प्रबल…

View More प्रातःस्मरणीय श्लोक

गीता जयंती का महात्म्य

गीता जयन्ती पर विशेष — गीता जयंती मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है |इस एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता…

View More गीता जयंती का महात्म्य

आदित्य हृदय स्तोत्र ।। with संस्कृत lyrics एवं हिन्दी अर्थ के साथ

आदित्य हृदय स्तोत्र   वाल्मीकि रामायण के अनुसार “आदित्य हृदय स्तोत्र” अगस्त्य ऋषि द्वारा भगवान् श्री राम को युद्ध में रावण पर विजय प्राप्ति हेतु…

View More आदित्य हृदय स्तोत्र ।। with संस्कृत lyrics एवं हिन्दी अर्थ के साथ

कसार देवी मंदिर अल्मोड़ा…यह क्षेत्र अपनी चुम्बकीय शक्ति के रूप में जाना जाता है…

चुम्बकीय शक्ति से ओतप्रोत क्षेत्र जो अल्मोड़ा उत्तराखंड में स्थित है। यहां इसरो द्वारा चुम्बकीय तरंगों का आकलन किया गया है। यह स्थान वैज्ञानिकों के…

View More कसार देवी मंदिर अल्मोड़ा…यह क्षेत्र अपनी चुम्बकीय शक्ति के रूप में जाना जाता है…

पहाड़ के गुफा में विराजित, सर्वत्र पूज्यनीय, माता कोटवी देवी, घुंसेरा, पिथौरागढ़

पौराणिक मान्यताओं में देवभूमि उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र जिसे केदारखंड भी कहा गया है, को भगवान शंकर की तपस्थली और कूर्मांचल या कुमाऊं क्षेत्र को…

View More पहाड़ के गुफा में विराजित, सर्वत्र पूज्यनीय, माता कोटवी देवी, घुंसेरा, पिथौरागढ़

मां कोटगाड़ी देवी मंदिर ।। न्याय की देवी, मां कोकिला देवी मंदिर, पांखू, पिथौरागढ़

View More मां कोटगाड़ी देवी मंदिर ।। न्याय की देवी, मां कोकिला देवी मंदिर, पांखू, पिथौरागढ़

श्री शिवसहस्रनामावली

ॐ नमः शिवाय श्री शिवसहस्रनामावलीः ॐ स्थिराय नमः, ॐ स्थाणवे नमः, ॐ प्रभवे नमः, ॐ भीमाय नमः, ॐ प्रवराय नमः, ॐ वरदाय नमः, ॐ वराय…

View More श्री शिवसहस्रनामावली

श्रीदुर्गाष्टोत्तरशतनामस्तोत्रम्

ॐ श्री दुर्गायै नमः श्रीदुर्गाष्टोत्तरशतनामस्तोत्रम् ईश्वर उवाच शतनाम प्रवक्ष्यामि शृणुष्व कमलानने। यस्य प्रसादमात्रेण दुर्गा प्रीता भवेत् सती।। 1।। ॐ सती साध्वी भवप्रीता भवानी भवमोचनी। आर्या…

View More श्रीदुर्गाष्टोत्तरशतनामस्तोत्रम्

परम पूज्य श्री श्री १००८ नानतिन महाराज जी

परम पूज्य श्री श्री १००८ नानतिन महाराज जी यूं तो कई ऋषि-मुनियों साधु-संतों ने उत्तराखंड की पावन भूमि को अपने तपस्थली के रूप में चुना।…

View More परम पूज्य श्री श्री १००८ नानतिन महाराज जी

परम शिवावतार हैड़ाखान बाबाजी: भाग 2

“परमेश्वर के चरणों में अपने अवगुण को समर्पण करके हमें सभी से सत्य, सरलता और प्रेम से व्यवहार करना चाहिए।” –  हैड़ाखान बाबाजी बाबाजी ने…

View More परम शिवावतार हैड़ाखान बाबाजी: भाग 2