देव्याः कवचम्

देवी कवच का नित्य प्रतिदिन पाठ अवश्य करना चाहिए। इस कवच के पाठ से शरीर के प्रत्येक अंग की रक्षा होती है। जीवन के प्रत्येक…

View More देव्याः कवचम्

श्रीकनकधारा स्तोत्रम || माता लक्ष्मीजी की शक्तिशाली स्तुति (संस्कृत में)

इसके श्रद्धा-विश्वाश पूर्वक पाठ-अनुष्ठान से ऋण मुक्ति और धन प्राप्ति होती है. यह विशेष मंत्र माता लक्ष्मीजी को प्रसन्न करने के पढ़ा जाता है. श्री…

View More श्रीकनकधारा स्तोत्रम || माता लक्ष्मीजी की शक्तिशाली स्तुति (संस्कृत में)

श्रीसूक्तम्

ऋग्वेद के दूसरे अध्याय के छठे सूक्त से अनुष्टुप छंद  में माता लक्ष्मी की अद्भुत स्तुति।   हिरण्यवर्णां हरिणीं सुवर्णरजतस्रजाम् चन्द्रां हिरण्मयीं लक्ष्मीं जातवेदो म…

View More श्रीसूक्तम्

अष्टमूर्तिस्तव||संजीवनी विद्या प्रदान करने वाली स्तुति||(संस्कृत एवं हिंदी में)

महर्षि भृगु के वंश में उत्पन्न श्री शुक्राचार्य महान् शिवभक्तों में परिगणित है। इन्होने काशीपुरी में आकर एक शिंवलिंग की स्थापना की, जो शुक्रेश्वर नाम…

View More अष्टमूर्तिस्तव||संजीवनी विद्या प्रदान करने वाली स्तुति||(संस्कृत एवं हिंदी में)

सत्य की महिमा || श्रीशिवमहापुराण, उमासंहिता

सत्यमेव परं ब्रह्म सत्यमेव परं तपः सत्यमेव परो यज्ञः सत्यमेव परं श्रुतम् सत्यं सुप्तेषु जागर्ति सत्यं च परमं पदम् सत्येनैव धृता पृथ्वी सत्ये सर्वं प्रतिष्ठितम्…

View More सत्य की महिमा || श्रीशिवमहापुराण, उमासंहिता

चाक्षुषी विद्या

इस मंत्र के पाठ से नेत्र के समस्त रोग दूर हो जाते है। नेत्र ज्योति सदा स्थिर रहती है। आठ ब्राह्मणों के द्वारा पाठ करने…

View More चाक्षुषी विद्या

गजेंद्र स्तुति II गजेंद्र मोक्ष स्तुति

भगवान श्री हरी को प्रसन्न करने का श्रेष्ठ स्त्रोत. गजेंद्र स्तवन से ऋण मुक्ति, शत्रु से छुटकारा और दुर्भाग्य का नाश होता है। एक दिन…

View More गजेंद्र स्तुति II गजेंद्र मोक्ष स्तुति

श्री नारायण कवच

सभी प्रकार के भयों से मुक्ति देने वाला शक्तिशाली मंत्र जिसका उपदेश  विश्वरुप  जी ने इंद्र को किया और इन्द्र ने असुरों पेपर विजय प्राप्त…

View More श्री नारायण कवच